शब्द विचार - विशेषण | हिंदी व्याकरण एवं रचना

विशेषण की परिभाषा, भेद एवं उदाहरण

• विशेषण की परिभाषा - 

वह विकारी शब्द जो संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता प्रकट करें, विशेषण कहलाते हैं। जैसे - अच्छा घर, नीला घोड़ा, बड़ा शहर इन शब्दों में घर, घोड़ा और शहर संज्ञा है और इनकी अच्छा, नीला और बड़ा से विशेषता बताई गई है। अतः ये शब्द विशेषण है। विशेषण संज्ञा को संकुचित कर देता है।

• विशेषण के मुख्यतः 4 भेद है

1. गुणवाचक विशेषण -
 जिन शब्दों में संज्ञा और सर्वनाम के गुण, दोष, रंग, काल, स्थान, गंध, दिशा, दशा, आकार, स्पर्श, स्वाद आदि का बोध हो उन्हें गुणवाचक विशेषण कहते हैं।
जैसे - गुण - त्यागी, सभ्य, उत्कृष्ट, आदरणीय
दोष - कुटिल, लोभी, निपट
रंग - गुलाबी, पीला
काल - पुराना, नया, आगामी
स्थान - पहाड़ी, बंगाली
गंध - खुशबू, बदबू
दिशा - पश्चिम, ईशान
दशा - गिला, खस्ता
आकार - चौकोर, गोल
स्पर्श - कोमल, खुर्दरा
स्वाद - कटु, मधुर

2. संख्यावाचक विशेषण -
जिन विशेषण से संज्ञा और सर्वनाम की संख्या का बोध हो संख्यावाचक विशेषण कहलाते हैं। यह विशेषण दो प्रकार का होता है -
१. निश्चित संख्यावाचक विशेषण - जैसे एक आदमी, चार गाय, तीन कबूतर बीस आम, 10 रूपए आदि।
मेले में 3 लोगों की जेब कट गई। रेखांकित शब्द में निश्चित संख्यावाचक विशेषण है।
२. अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण - जैसे कुछ लोग, सब खिलाड़ी, अधिक सैनिक, कतिपय छात्र, बहुत आदमी, बहुत आनन्द, बहुत पेड़ आदि।
सभा में एक आता है एक जाता है। रेखांकित शब्द में अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण है।
मैंने हजारों रुपए कमाए और गंवाए। रेखांकित शब्द में अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण है।
लगभग 60,000 मनुष्य नहाए होंगे। रेखांकित शब्द में अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण है।
सारे देशों ने सीटीबीटी पर हस्ताक्षर कर दिए। रेखांकित शब्द में अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण है।
राष्ट्रपति की मृत्यु से सारा देश दुख में डूब गया। रेखांकित शब्द में अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण हैै।
कुछ बच्चे कक्षा में शोर मचा रहे थे। रेखांकित शब्द में अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण है।

3. परिणामवाचक (नाप-तोल) विशेषण -
जिन विशेषण से संज्ञा और सर्वनाम के माप-तोल का बोध हो परिणामवाचक विशेषण कहलाते हैं। यह विशेषण दो प्रकार का होता है -
१. निश्चित परिणामवाचक विशेषण - जैसे एक लिटर तेल, 10 लीटर दूध, 5 तोला सोना, 6 ग्राम जौ, 10 किलो टमाटर, एक सेंटीमीटर कागज, 10 मीटर कपड़ा, चार किलोमीटर दूरी आदि।
२. अनिश्चित परिणामवाचक विशेषण - जैसेे थोड़ा दूध, भरपेट खाना, सारी मिठाई, पूरा मजा, थोड़ी भूमि, जरा-सा पानी आदि।

4. सार्वनामिक विशेषण -
 इसमें विशेषण सर्वनाम से बने होते हैं। (पुरुषवाचक, निजवाचक को छोड़कर) इसलिए इसे सार्वनामिक विशेषण कहते हैं। इन्हें संकेतवाचक विशेषण भी कहते हैंं। जैसे -
यह एक गाय है। निश्चयवाचक सर्वनाम है।
यह गाय मेले से खरीदी गई थी। यह सर्वनामिक विशेषण है।
यह स्थान बहुत अच्छा है। यह सर्वनामिक विशेषण है।
कितने लोगों ने कुर्बानी दी है। सर्वनामिक विशेषण है।
तुम्हारा सारा प्रयत्न बेकार रहा। सर्वनामिक विशेषण है।

यह भी पढ़ें - हिन्दी वर्ण परिचय



• प्रविशेषण - जो शब्द विशेषण की विशेषता बताएं। जैसेे-  यह घोड़ा बहुत सुंदर है। यहां सुंदर विशेषण है तथा बहुत प्रविशेषण है।