शेल्डन के अनुसार सोमाटोटाइपिंग के आधार पर शरीर के तीन प्रकार कौन से हैं?

शेल्डन के अनुसार सोमाटोटाइपिंग के आधार पर शरीर के तीन प्रकार कौन से हैं?

Answer :
1940 के दशक में विलियम एच. शेल्डन ने मानव शरीर और आपराधिकता के बीच संबंधों का अध्ययन करने का प्रयास किया था। शेल्डन के शोध से पता चला कि मेसोमोर्फिक व्यक्तियों में हिंसक और आक्रामक कृत्य करने की अधिक संभावना थी।
विलियम हरबर्ट शेल्डन के व्यक्तित्व का सिद्धांत (टाइप सिद्धांत) के अनुसार शरीर के आकार अर्थात सोमाटोटाइपिंग के आधार पर सभी व्यक्तियों को तीन श्रेणियों में बाँटा गया है।
मनोविज्ञान में सोमाटोटाइपिंग का विचार शेल्डन द्वारा दिया गया था। इसे मनुष्यों के शारीरिक संरचना के आधार पर व्यक्तित्व के तीन प्रकार बताये थे - 1. एंडोमोर्फ (Endomorph) 2. मेसोमोर्फ (Mesomorph) 3. एक्टोमोर्फ (Ectomorph)
एंडोमार्फ (Endomorph) -गोलाकार, इस प्रकार के व्यक्तियों का शरीर गोल मटोल होता है। ये बड़े एवं सुदृढ शरीर के कारण खेलों में अधिक प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं। इसके लिए उपयुक्त खेल भारोत्तोलन (वेट लिफ्टिंग) तथा पावर लिफ्टिंग होते हैं।
मेसोमोर्फ (Mesomorph) -आयताकार, मेसोमोर्फ व्यक्तियों का शरीर सुदृढ़, मजबूत एवं वर्गाकार होता है। इन व्यक्तियों के कंधे व छाती चौड़ी होती है। ये व्यक्ति किसी भी खेल में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। शेल्डन के अध्ययन में इसी मेसोमोर्फ सोमाटोटाइप में हिंसक अपराध करने की सबसे अधिक संभावना थी।
एक्टोमोर्फ (Actomorph) - लंबाकार, जिन व्यक्तियों का शरीर पतला एवं लंबा होता है उन्हें एक्टोमोर्फ श्रेणी में रखा गया है। इनके शरीर की माँसपेशियां पतली होती हैं व हाथ-पैर लंबे होते हैं तथा इनकी छाती चपटी होती है। इनका शरीर का ढाँचा नाजुक होता है। अतः ये सहनदक्षता संबंधित खेलों के लिए उपयुक्त होता है। जैसे - लंबी दूरी की दौड़, जिम्नास्टिक आदि।
और अधिक पढ़ें : व्यक्तित्व का वर्गीकरण

My name is Mahendra Kumar and I do teaching work. I am interested in studying and teaching competitive exams. My qualification is B.A., B.Ed., M.A. (Pol.Sc.), M.A. (Hindi).

Post a Comment